मूत्राशय की हर तरह की Problem का Ayurvedic इलाज..

जब भी किसी को मूत्राशय की दिक्कत होती हैं तो वह शरीर के निचले हिस्से को बहुत ही नुकसान पहुँचाती हैं । इसलिए इसका इलाज करना बहुत जरुरी हैं । हम आपके लिए लाये हैं कुछ आयुर्वेदिक इलाज जो आपको इस दिक्कत से निजात दिला देंगे ।

सबसे पहले आप हमारे Facebook Page को Like और Share करके हमे सहयोग करे…

बिस्तर पर पेशाब करना

यदि बच्चा रात में सोते समय बिस्तर पर पेशाब कर देता हो तो अखरोट की एक गिरी और 5 ग्राम किशमिश रात में सोने से पहले नित्य एक बार खिलायें। एक सप्ताह में पूरी तरह से आराम हो जाएगा।

मूत्राशय की जलन

दानेदार धनिये को मोटा पीसकर इसका छिलका अलग कर ले। फिर बीजो के अंदर की गिरी निकालकर 300 ग्राम धनिये की गिरी और 300 ग्राम मिश्री या चीनी ले। ( लगभग 450 ग्राम धनिये में 300 ग्राम गिरी निकल आती हैं।)

mutr-2-e1534865605984.jpg

दोनो को अलग अलग पीसकर आपस मे मिला ले, समझ लीजिए औषधि तैयार हैं। मूत्राशय की जलन के अलावा वीर्य की उतेजना दूर करने में भी यह अचूक है। 5 ग्राम एक गिलास ठंडे पानी से दिन में 2 बार ले। केवल 3 दिन तक।

इसे भी पढ़े –

पेशाब का बार बार आना

  • बार बार पेशाब आने पर 60 ग्राम भुने चने खाकर ऊपर से थोड़ा सा गुड़ खाये। दस दिन लगातार सेवन करने से बहुमूत्र आना ठीक हो जाएगा। बूढ़ो को ज्यादा दिन तक यह खुराक लेनी चाहिए। पाचन शक्ति अगर बिगड़ी हई हो तो भी यह प्रयोग उपयुक्त हैं।

health-food_1473934627.jpeg

  • सुबह सुबह गुड़ से बना हुआ तिल का एक लड्डू खाने से बार बार पेशाब आना बंद हो जाता हैं। आवश्यकता अनुसार 4-5 दिन खाये। सर्दियों में तो यह बहुत ही उत्तम रहता हैं।
  • रोजाना मेथी का साग खाने से पेशाब का ज्यादा होना ठीक होता हैं।
  • पेशाब बार बार और अधिक मात्रा में आये तो 2 पके केलों का सेवन दोपहर को भोजन के बाद कुछ दिन करना चाहिए। इससे लाभ होता है। ये रोग अंगूर खाने से भी दूर हो जाता हैं।
  • शाम को पालक की सब्जी खाने से रात को बार बार पेशाब के लिये नही उठना पड़ता।

पेशाब का कम आना

  • दो छोटी इलायची को पीसकर फांककर दूध पीने से पेशाब खुलकर आता हैं और मूत्रदाह भी बंद हो जाता हैं।

4636incredible-medical-values-of-elaichi.jpg

  • जौ का पानी, नारियल का पानी, गन्ने का रस और कुल्थी का पानी विशेष सहायक है। रात मे तांबे के बर्तन में पानी भर कर रखे और सुबह उसको पीये। उससे लाभ होगा।
  • भोजन के बाद छाछ में हरा धनिया मिलाकर पीना भी लाभदायक है।

masala-chach-pakwangali_520_040716010524.jpg

पेशाब का रुकना

  • पेशाब किसी भी कारण से बंद हो तो अरहड़ का तेल 20 ग्राम पानी मे मिलाकर पीने से 15-20 मिनट में पेशाब खुल जाता हैं। जब हर तरह से हार जाए और किसी उपाय से पेशाब न आये तो यह प्रयोग अवश्य आजमाये।
  • दो ग्राम जीरा और दो ग्राम मिश्री दोनो को पीसकर लेने से पेशाब खुल जाता हैं। दिन में 3 बार ले।

maxresdefault2.jpg

  • गुर्दो की खराबी के कारण अगर पेशाब बनना बंद हो जाये तो मूली के पत्तो का रस 60 ग्राम पीने से वो फिर से बनने लगता है। इससे पेशाब की जलन और वेदना शांत हो जाती हैं।

इसे भी पढ़े –

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s